महिलाओं पर गंदे कॉमेंट्स के मामले हार्दिक पंड्या और केएल राहुल पर लगने जा रहा है बैन

365

हाल ही में कॉफी विथ करण में लड़कियों के खिलाफ की गईं आपत्तिजनक टिप्पणियों को लेकर विवादों में घिरे टीम इंडिया के ऑलराउंडर खिलाड़ी हार्दिक पंड्या और ओपनिंग बल्लेबाज केएल राहुल की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। बीसीसीआई में नियुक्त प्रशासनिक समिति (CoA) के प्रमुख विनोद राय ने दोनों खिलाड़ियों पर दो-दो वनडे मैचों के बैन की सिफारिश की है। प्रशासनिक समिति की दूसरी सदस्य डायना इडुल्जी ने इस मामले को बीसीसीआई की लीगल सेल के पास भेज दिया है.

 

पंड्या के कॉमेंट के बाद सोशल मीडिया पर उनकी खूब आलोचना हुई थी और इसके बाद उन्होंने बुधवार को टि्वटर पर माफी भी मांगी थी। बीसीसीआई ने भी दोनों खिलाड़ियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया था। दोनों खिलाड़ियों को जवाब देने के लिए 24 घंटे का समय दिया गया था। ‘कॉफी विद करण’ टीवी शो पर पंड्या की टिप्पणियों की काफी आलोचनाएं हुई जिन्हें ‘सेक्सिस्ट’ करार दिया गया।

https://twitter.com/iamnik7/status/1082240741835911168

दोनों खिलाड़ियों ने अपने जवाब में बोर्ड और प्रशासनिक समिति (CoA) से माफी मांगी थी। खिलाड़ियों के जवाब पर प्रतिक्रिया देते हुए विनोद राय ने कहा, ‘मैं हार्दिक के स्पष्टीकरण से सहमत नहीं हूं और मैंने दोनों खिलाड़ियों पर दो मैचों के प्रतिबंध की सिफारिश की है। हालांकि जब डायना इस मामले पर अपनी हरी झंडी देंगी, तभी इस पर अंतिम निर्णय हो सकेगा।’

टीम इंडिया को शनिवार से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 वनडे मैचों की सीरीज खेलनी हैं। दोनों खिलाड़ी इस सीरीज के लिए टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया में मौजूद हैं।

 

राय ने कहा, ‘डायना इडुल्जी ने इस मामले पर कानूनी राय मांगी है कि क्या इन दोनों खिलाड़ियों को बैन किया जा सकता है। अगर वह इसे मंजूरी देती हैं, तो फिर इस निर्णय लिया जाएगा। जहां तक मेरा सवाल है ये टिप्पणियां मूर्खतापूर्ण हैं, खराब और अस्वीकार्य हैं।’

इससे पहले मामले के तूल पकड़ने के बाद हार्दिक पंड्या ने ट्विटर पर अपना पक्ष रखते हुए माफी मांगी थी। उन्होंने इस ट्वीट में लिखा था, ‘ईमानदारी से कहूं तो, मैं शो की प्रकृति के साथ भावनाओं में बह गया। मैं किसी भी तरीके से किसी की भी भावनाओं को आहत या किसी का अनादर नहीं करना चाहता था।’ शो पर पंड्या ने कई महिलाओं से अपने संबंधों को बढ़ा चढ़ाकर बताया था और यह भी कहा था कि वह अपने माता पिता से भी इसके बारे में काफी खुले हुए हैं। यह पूछने पर कि वह क्लब में महिलाओं के नाम क्यों नहीं पूछते तो पंड्या ने कहा, ‘मैं उन्हें (महिलाओं) देखना चाहता हूं कि उनकी चाल ढाल कैसी है। मैं थोड़ा ऐसा ही हूं इसलिए मुझे यह देखना होता है कि वे कैसा बर्ताव करेंगी।’