Hindi

अमेज़न प्राइम वीडियो की वेब सीरीज ‘तांडव’ में भगवान शिव का अपमान किया गया है ?

अमेज़न प्राइम वीडियो ने अपनी पॉलिटिकल वेब सीरीज़ रिलीज़ की. नाम है ‘तांडव’. रात रिलीज़ हुई और आज सुबह से ट्विटर पर एक हैशटैग चलने लगा. #BoycottTandav. लोगों ने मल्टीपल चीज़ों पर शो को टारगेट किया है.

शो में मोहम्मद ज़ीशान अयूब का किरदार एक छात्र नेता का है. विवेकानंद यूनिवर्सिटी यानि वीएनयू में पढ़ता है. शो के एक सीन में ज़ीशान के किरदार को एक प्ले करते हुए दिखाया गया. जहां वो शिवजी बने हैं. हाथ में त्रिशूल लिए. उनका किरदार नारद मुनि बने एक्टर से पूछता है कि आजकल हमारी पॉपुलैरिटी कम क्यूं हो रही है. नारद मुनि जवाब देते हैं. प्रभु, कुछ सेंसेशनल सा ट्वीट कीजिए. जैसे कॉलेज के सारे विद्यार्थी देशद्रोही हो गए हैं. आज़ादी, आज़ादी के नारे लगा रहे हैं. ज़ीशान का किरदार जवाब देता है,

What the F***

इसपर स्टूडेंट्स हूटिंग करते हैं. फिर ज़ीशान का किरदार आज़ादी के मायने समझने की कोशिश करता है. पूछता है किस चीज से आज़ादी चाहिए? जवाब मिलता है. भूखमरी से, सामंतवाद से, जातिवाद से, अत्याचारों से.

शो का ये हिस्सा बना ट्रिगरिंग पॉइंट. लोग शो के डायरेक्टर अली अब्बास ज़फ़र और ज़ीशान अयूब को टैग कर ट्वीट करने लगे. एक ने लिखा,

अली अब्बास ज़फ़र का तांडव पूरी तरह उसके लेफ्ट विंग प्रोपेगैंडा पर आधारित है. टुकड़े-टुकड़े गैंग को ग्लोरिफाई किया गया है. भगवान शिव बना ज़ीशान अयूब स्टेज पर गालियां दे रहा है.

 

सारे ट्वीट्स बस ज़ीशान पर ही नहीं थे. लोगों ने डिनो मोरेया का भी एक सीन निकाल लिया. जहां उनका किरदार एक लड़की से कहता है,

जब एक छोटी जात का आदमी एक ऊंची जात की औरत को डेट करता है, तो वो बदला ले रहा होता है. सदियों के अत्याचारों का. सिर्फ उस एक औरत से.

लोगों ने इसपर भी सवाल किए. एक ने लिखा,

https://twitter.com/SARCSUHUB_07/status/1349922409671921665?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1349922409671921665%7Ctwgr%5E%7Ctwcon%5Es1_&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.thelallantop.com%2Fjhamajham%2Ftandav-gets-bashed-for-drawing-remarks-on-lord-shiva-accused-of-spreading-propaganda%2F

 

देखें ट्वीट लोग इस वेब सीरीज के बारे में क्या कह रहे हैं :-

 

 

 

 

 

https://twitter.com/SheetalPronamo/status/1349934113826848769

Related Articles

Back to top button