Hindi

अजय देवगन की नई फिल्म के ट्रेलर में दिखे आलोक नाथ, ‘मीटू इंडिया’ ने लिखा- ‘ये शर्मनाक है’

अजय देवगन की फिल्म दे दे प्यार दे का ट्रेलर रिलीज कर दिया गया है। ट्रेलर को मिल रहे रिस्पॉन्स से ज्यादा ये कुछ और वजह से चर्चा में रहा। दरअसल, पहले ऐसी खबरें थीं कि मीटू मूवमेंट के तहत रेप का आरोप लगने के बाद आलोक नाथ को फिल्म से हटा दिया गया है लेकिन ट्रेलर में उन्हें देख दर्शक हैरान रह गए।

https://twitter.com/ImMumin/status/1112987407085789184

ट्रेलर लॉन्चिंग के दौरान जब फिल्म के लेखक और प्रोड्यूसर लव रंजन से आलोक नाथ की मौजूदगी को लेकर सवाल पूछा गया तो अजय देवगन ने तुरंत जवाब देते हुए कहा- ‘ये इस बारे में बात करने का सही समय नहीं है। वैसे भी ये फिल्म आलोक नाथ पर मीटू का आरोप लगने से पहले शूट हो गई थी।’ आलोक नाथ को फिल्म में लेने के बाद मीटू इंडिया के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने नाराजगी जाहिर की है।

 

मीटू इंडिया ने लिखा कि ‘जब एक औरत को लगातार अविश्वास के साथ देखा गया और उस पर चुप्पी साधे रखी, वहीं रेप का आरोप लगने के बाद भी एक आदमी को फिल्म में लिया गया है। अजय देवगन और भूषण कुमार हमें लगता है कि आपको पता होगा कि आलोक नाथ पर रेप का आरोप है और उन पर एफआईआर भी दर्ज है। ये शर्मनाक है कि वो दे दे प्यार दे फिल्म का हिस्सा हैं।’

 

मीटू इंडिया ने आगे लिखा कि ‘ऐसे किसी शख्स को फिल्म के रोल के लिए चुन लिया गया है क्या यह जरूरी था कि एक आदमी जिसने हिंसा की और कई औरतों का शोषण किया उसे फिल्म में लिया जाए? क्या यह मैसेज दिया गया है कि वो किसी की परवाह नहीं करते? एक महिला जो इन सबकी शिकार हुई, क्या कलाकारों द्वारा ऐसे ही सपोर्ट किया जाएगा?’ गौरतलब है कि केवल मीटू इंडिया ही नहीं सोशल मीडिया पर कई यूजर्स ने भी अजय देवगन और भूषण कुमार की आलोचना की है।

https://twitter.com/wahinbanega/status/1113063013660024833

https://twitter.com/Not_A_Shammer/status/1113006757750558720

 

बता दें कि पिछले साल आलोक नाथ पर मीटू के तहत आरोप लगाया गया था। प्रोड्यूसर विनता नंदा ने उन पर रेप का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करवाई थी। मामला करीब 20 साल पुराना था। इसके बाद इंडस्ट्री की कई और एक्ट्रेस ने आलोक नाथ पर शराब पीकर छेड़खानी करने की बात कही थी।

Related Articles

Back to top button