दुष्यंत  कुमार की कविता में ये गलती कर गए सुशांत, जिससे  लोगों ने कर दिया ट्रोल.

सुशांत सिंह राजपूत ने दुष्यंत कुमार की एक कविता लिख कर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से पोस्ट की है. एक ओर जहां बॉलीवुड के सितारे सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीरें शेयर करते रहते हैं वहीं सुशांत की मौजूदगी भीड़ से अलग नजर आती है. वो आजकल हाथ से लिखी हिंदी की कविताएं, कुछ पेंटिंग्स शेयर करते रहते हैं. हालांकि सुशांत अपनी तमाम पुरानी पोस्ट को डिलीट भी कर देते हैं. सुशांत ने हिंदी के दिग्गज कवि और गीतकार दुष्यंत कुमार की एक कालजयी रचना साझा की है.

बता दें कि दुष्यंत की रचना पीर पर्वत सी पिघलनी चाहिए पिछले कई दशक से तमाम आंदोलनों की प्रतिनिधि कविता के तौर पर स्थापित है. कागज पर इस रचना का नोट हिंदी में लिख कर सुशांत ने शेयर किया जिसे काफी पसंद किया जा रहा है. हालांकि कुछ लोगों ने रचना में प्रूफ की एक गलती की ओर सुशांत का ध्यान दिलाया. दरअसल सुशांत ने एक जगह ‘दीवार’ को ‘दिवार’ लिख दिया. इस पर कई लोगों ने उनकी हिंदी का मजाक उड़ाया.

हालांकि कई सारे प्रशंसक सुशांत के इस पोस्ट की तारीफ कर रहे हैं. कुछ ये  पूछते भी नजर आए कि जिन्हें हिंदी नहीं आती है. वो इस कविता को कैसे पढ़े और समझें. इसके जवाब में सुशांत ने लिखा, “तुम भी सीख जाओगे जैसे मैं सीख रहा हूं.” इस पोस्ट को एक दिन के भीतर तकरीबन डेढ़ लाख लोगों ने लाइक किया है.