MeToo: साजिद के ख‍िलाफ कार्रवाई पर ये बोलीं आरोप लगाने वालीं सलोनी चोपड़ा

960

करीब एक माह तक चले #MeToo मूवमेंट के तहत फिल्ममेकर साजिद खान पर कई महिलाओं ने गंभीर आरोप लगाए थे. इन्हीं आरोपों पर कार्रवाई करते हुए साजिद खान को IFTDA यानी इंडियन फिल्म एंड टेलीविजन डायरेक्टर्स एसोसिएशन ने 1 साल के लिए ससपेंड कर दिया है.

साजिद पर उत्पीड़न के आरोप लगाने वालीं सलोनी चोपड़ा ने इस कार्रवाई पर अपनी प्रतिक्र‍िया दी है. सलोनी ने टि्वटर पर कहा – IFTDA के इस कदम से खुश हूं. उसने हमारा साथ देने का तय किया और अपने सदस्यों के गलत व्यवहार के प्रति कड़ा रुख अपनाया. मुझे उम्मीद है कि ये सब कामचलाऊ नहीं होगा. इस तरह के गलत व्यवहार को सामान्य मानकर चुप रहने का मतलब है कि इंडस्ट्री में सभी इसके ल‍िए जिम्मेदार हैं, क्योंकि आप इसे प्रोत्साहित कर रहे हो.

सलोनी ने कहा- मैं चाहती हूं कि साजिद उन महिलाओं से माफी मांगें, जिनके साथ उन्होंने गलत किया है. माफी इसका जवाब नहीं है, न कि अंतिम समाधान है, लेकिन यह अपनी गलती मानने का पहला कदम है. इस तरह की अनदेखी उन सब लोगों का अपमान है, जो इसमें शामिल हैं


गौरतलब है कि साजिद खान पर सबसे पहले एक महिला पत्रकार ने सनसनीखेज आरोप लगाये थे. उसके बाद अभिनेत्री सलोनी चोपड़ा, रशेल वाइट, सिमरन सूरी ने भी डायरेक्टर पर सैक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लगाए. इन आरोपों पर गंभीरता से विचार करते हुए IFTDA ने साजिद को एक साल के निलंबित कर दिया गया है.