#MeToo Movement के बाद 5 करोड़ लोगों ने सेक्सुअल हैरसमेंट पर किया गूगल सर्च

एक नए research में खुलासा हुआ है अमेरिका में मीटू अभियान के बाद से करीब पांच करोड़ लोगों ने गूगल पर यौन शोषण यानिकि सेक्सुअल हैरसमेंट के बारे में सर्च किया है। गूगल पर ये सर्च अक्तूबर 2017 से जून 2018 के बीच में ही ये सर्च किए गए हैं। गूगल पर यौन शोषण को लेकर जो सर्च किए गए उनमें पूछा गया है कि किस प्रकार इसके खिलाफ शिकायत की जाए और कैसे इस तरह के व्यवहार पर रोकथाम लगाई जाए.

research में हैरान करने वाली बात तो ये है कि यौन शोषण को लेकर होने वाले गूगल सर्च में इस समय अवधि (अक्तूबर 2017 से जून 2018 ) के दौरान 86 फीसदी की वृद्धि हुई है। जो कि नया रिकॉर्ड है। इसमें कहा गया है कि फिल्म प्रोड्यूसर हार्वे विंस्टीन पर यौन शोषण के आरोप के बाद जब मीटू अभियान की शुरुआत हुई, उसके बाद महज 8 महीने में ही ऐसे 4 से 5.4 करोड़ सर्च किए गए.

अध्ययनकर्ताओं ने यौन उत्पीड़न और यौन उत्पीड़न जागरूकता को लेकर किए गए गूगल सर्च पर अध्ययन किया। जिसमें उन्होंने जनवरी 2010 से जून 2018 के बीच के आंकड़े देखे। ये अध्ययन जामा इंटरनेश्नल मेडिसिन के जनरल में पब्लिश किया गया है.

जब अमेरिकी अभिनेत्री एलिसा मिलानो ने अभियान को समर्थन देने का आग्रह किया तो #MeToo को करीब तीन लाख बार रीट्वीट किया गया.

 

वहीं इंडिया में इस अभियान की शुरुआत अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा अभिनेता नाना पाटेकर पर लगाए गए यौन शोषण के आरोप के बाद हुई. इसके बाद तो इंडिया में भी metoo की आंधी आ गयी.

metoo अभियान अभी खत्म नहीं हुआ है ये दुनिया भर के देशों में फ़ैल चुका है. इस वक़त ये साउथ अफ्रीका, से लेकर जापान और ऑस्ट्रेलिया से लेकर अमेरिका तक फ़ैल चूका है, कुल मिलाकर अभी तक metoo मोवेमेंट 85 देशों में चल रहा है. अब ये हमारे पडोसी देश पाकिस्तान और अफगानिस्तान से लेकर अरब देशों में भी फ़ैल चूका है. और नाइजीरिया में तो ये एक बड़े आंदोलन के रूप में फ़ैल चूका है.