इंडियन फैंस ने वर्ल्ड कॉप फाइनल का टिकिट पहले से खरीद रखा था, अब उसे दुगने दाम में बेच रहे हैं, जिससे नाराज हैं न्यूजीलैंड फैंस

हजारों भारतीय प्रशंसकों ने इस उम्मीद से क्रिकेट वर्ल्ड कप-2019 फाइनल के अधिक से अधिक टिकट खरीदे थे कि विराट ब्रिगेड हर हल हाल में फाइनल मुकाबले के लिए उतरेगी. लेकिन सेमीफाइनल में टीम इंडिया को हराकर न्यूजीलैंड ने फाइनल में जगह पक्की कर ली. अब हालात ये हैं कि न्यूजीलैंड के समर्थक फाइनल मैच देखने के लिए टिकट को तरस रहे हैं, लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिल पा रहे हैं. फाइनल 14 जुलाई को लॉर्ड्स में खेला जाना है.

 

खबर है कि फैंस मेजबान इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच फाइनल देखने के बदले उन टिकटों को ऊंची दरों पर बेच रहे हैं. दरअसल, भारतीय फैंस टीम इंडिया के फाइनल में न पहुंचने से निराश हैं. अब फाइनल देखने में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं रही. दूसरी तरफ, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के फाइनल में कदम रखने के बाद कीवी समर्थक मैच के टिकट के लिए भटक रहे हैं. इतना ही नहीं, न्यूजीलैंड के फैंस मुंह मांगी कीमत भी देने को तैयार हैं.

टिकटों की कालाबाजारी से जुड़ी खबरों के बाद न्यूजीलैंड के ऑलराउंडर जिमी नीशाम से नहीं रहा गया. वह अपने फैंस की खातिर भारतीय प्रशंसकों से ट्वीट कर अनोखी अपील की है.

निशाम ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर लिखा है- अगर भारतीय क्रिकेट प्रशंसक ये मैच नहीं देखना चाहते हैं तो उन्हें इन टिकटों को आधिकारिक प्लेटफॉर्म पर बेचकर न्यूजीलैंड के फैंस को वर्ल्ड कप देखने का मौका देना चाहिए. उन्होंने यह भी लिखा कि मुझे पता है कि इन टिकटों को बेचकर लाभ कमाया जा सकता है, लेकिन आप अमीर बनने की न सोचें, इन टिकटों को सही क्रिकेट फैंस तक पहुंचाकर उन्हें फाइनल देखने का मौका दें.

 

एएफपी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कई टिकटों की कीमत 1,000 पाउंड ( लगभग 83,000 रु.) से अधिक है, जबकि कुछ £ 5,000 (लगभग 3,86,000 रु.) से ऊपर हैं. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने अपना अपना रुख दोहराता हुए दावा किया है कि गैर आधिकारिक तरीके से टिकट बेचने की कोशिश करने वाले सक्रिय निगरानी में हैं.