“आज कल समाज में जहर फ़ैल गया है गाय को बचाने के लिए इंसान की जान ली जा रही है” नसीरुद्दीन शाह

नसीरुद्दीन शाह ने एक वीडियो जारी किया है. इस वीडियो में उन्होंने कहा कि आज के भारत में वो अपने बच्चों को लेकर बहुत डरे हुए हैं. उन्होंने कहा, ”मुझे इस बात का डर लगता है कि कहीं मेरे बच्चों को भीड़ ने घेर लिया और उनसे पूछा कि तुम हिंदू हो या मुसलमान? मेरे बच्चों के पास इसका कोई जवाब नहीं होगा. क्योंकि मैंने मेरे बच्चों को मजहबी तालीम नहीं दी है. अच्छाई और बुराई का मजहब से कोई लेना-देना नहीं है.”

नसीरुद्दीन शाह ने आगे कहा कि इन दिनों समाज में चारों तरफ जहर फैल गया है. मुझे इस बात की फिक्र होती है क्योंकि हालात जल्दी सुधरते मुझे नजर नहीं आ रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि देश में उन लोगों के लिए पूर्ण दंड हो जो कानून अपने हाथों में लेते हैं.

नसीरुद्दीन शाह ने बुलंदशहर हिंसा का जिक्र करते हुए कहा कि हाल ही में हमने देखा है कि एक पुलिस अधिकारी की मौत गाय की मौत से अधिक महत्व रखने लगी है.

नसीरुद्दीन शाह ने इस इंटरव्यू में ये भी कहा कि इस जिन्न को बोतल में बंद करना मुश्किल होगा। लोगों को खुली छूट मिल गई है कानून को अपने हाथ में लेने की। लेकिन मुझे इन सभी बातों से डर नहीं लगता बल्कि गुस्सा आता है। मुझे लगता है कि हर इंसान को इन बातों से डर नहीं लगना चाहिए बल्कि गुस्सा आना चाहिए। और ये हमारा घर है कौन निकाल सकता है हमे यहां से.

नसीरुद्दीन शाह ने अपने बच्चों को लेकर भी चिंता जाहिर की- मुझे अपने बच्चों के लिए बेहद डर लगता है कि अगर कही मेरे बच्चों को भीड़ ने घेर लिया और उनसे पूछा जाए कि तुम हिंदू हो या मुसलमान? मेरे बच्चों के पास इसका कोई जवाब नहीं होगा। क्योंकि हमने अपने बच्चों को मजहबी तालीम नहीं दी है। क्योंकि अच्छाई और बुराई का मजहब से कोई मलतब नहीं है.

यहाँ देखें वीडियो :-

https://www.youtube.com/watch?v=Uh18VUfQJvA