जाने डेविड धवन के साथ कैसे बिगड़े गोविंदा के रिश्ते ? एक्टर ने खुद खोला राज

147

कभी डेविड धवन और गोविंदा ने साथ में कई सुपरहिट फिल्में दी थीं. गोविंदा ने डायरेक्टर-प्रोड्यूसर डेविड धवन की करीब 17 फिल्मों में काम किया है. एक समय दोनों अच्छा बॉन्ड शेयर करते थे, मगर आज की तारीख में दोनों के रिश्ते खराब हैं. दोनों के बीच हुई अनबन की वजह आज तक किसी को मालूम नहीं है.

डेविड धवन संग कई सालों तक बात नहीं करने पर गोविंदा ने कहा- ”वो मुझे इस तरह का सवाल तब पूछने लायक होंगे जब वे अपने बेटे के साथ करीब 17 फिल्में करेंगे. मुझे नहीं लगता उनके बेटे (वरुण धवन) उनके साथ 17 फिल्में करेंगे, क्योंकि वो डेविड धवन का बेटा है. वो पढ़ा लिखा है. किसी कलाकार के साथ 17 फिल्में करने का क्या मतलब होता है ये भी मुझे नहीं पता था.”

गोविंदा ने कहा, मुझे तो संजय दत्त ने कहा था कि पंजाबी है, आ रहा है. उस समय जितने भी पंजाबी कहां कहां से आते थे तो मैं उन्हें काम दे दिया करता था. उन्हीं में से डेविड धवन भी आए थे. वो मुझे अच्छे लगे, मुझे लगा कि इनके साथ बहुत सारी हिट फिल्में दे सकता हूं. मैंने सोचा कि चलो काम करते हैं.

गोविंदा ने कहा- मैंने उनके साथ जैसा रिश्ता निभाया है वैसा तो मैं अपने किसी रिश्तेदार के साथ भी नहीं कर पाया. मेरे भाई डायरेक्टर हैं अभी तक मैं उसके साथ 17 फिल्में नहीं कर पाया. अब ये क्या अपेक्षा कर रहे हैं, मुझे नहीं पता. जिस वक्त मैं उनके साथ 17 फिल्में कर चुका था तो मैंने उन्हें चश्मेबद्दूर का सब्जेक्ट सुनाया. उन्होंने वो ऋषि कपूर के साथ शुरू कर दी. जब शूटिंग हो रही थी तब मैंने उन्हें डांट लगाने के लिए फोन किया.

गोविंदा ने कहा, वो मुझे बोले कि तू सुन तो सही मैं कैसे ये फिल्म बना रहा हूं. मैंने कहा- मैं क्यों जानूं यार कि तू क्या कर कर रहा है. पहले हां तो करता मुझे, कुछ कहा भी नहीं, सब्जेक्ट भी उठा लिया.

गोविंदा ने कहा, राजनीति से निकलने के बाद मैं थोड़ा बदल गया था. तब मेरे सेक्रेटरी डेविड धवन के साथ थे, मैंने उनसे कहा था कि फोन स्पीकर पर रखना, जो भी डेविड कहे मैं खुद सुनना चाहता हूं. उस दौरान डेविड कह रहे थे- चीची बहुत सवाल पूछने लग गया है. इतने सवाल कि मेरा दिल नहीं है उसके साथ काम करूं. उसे बोलो कहीं छोटा मोटा रोल मिल जाए तो कर ले. तब मेरा दिल टूट गया और मैंने कुछ महीनों के लिए उनसे बात नहीं की.