News & GossipTellywood

रॉकी को मौत के मुंह से वापस लाने शिवांगी यामिनी को सौंपेगीं नागमणि

शिवांगी से नागमणि हासिल करने के लिए यामिनी नें ऐसी चाल चली है जिससे शिवांगी नागमणि को बाहर लाने के लिए मजबूर हो जाऐंगी ।

शिवांगी भले ही रॉकी के सामने अपना प्यार जाहिर नहीं करतीं लेकिन हकीकत तो यही है, कि शिवांगी रॉकी से बेइंतहा प्यार करती हैं । रॉकी को ढाल बनाकर यामिनी शिवांगी से नागमणि हासिल करेगीं।

रॉकी घर की तरफ आ रहे होते हैं की राश्ते में कुछ गुंडे उन पर पीछे से हमला कर देते हैं । हमले में रॉकी बुरी तरह घायल हो जाते हैं । खून से लतपत रॉकी की जान खतरे में देखकर शिवांगी घबरा जाती हैं। शिवांगी शिव मंदिर में जाकर भगवान भोलेनाथ से रॉकी की जान की भीख मांगती हैं ।

 

शिवांगी को रोता देख गुरूजी उनसे कहते हैं की रॉकी की जान बचाने का एक ही तरीका है।

गुरूजी कहते हैं की रॉकी की जान बचाने के लिए शिवांगी को नागमणि लानी होगी ।

शिवांगी गुरूजी से कहती हैं की वो किसी भी कीमत पर रॉकी की जान बचाकर रहेगीं।

यामीनी के इरादों से वाकिफ रूद्र शिवांगी को समझाते हैं की ये सब यामीनि की चाल है।

 

रूद्र शिवांगी को याद दिलाते हैं की नागमणि की रक्षा  à¤•à¥‡ लिए ही शिवांगी की मां शेवन्या नें अपनी जान दी थी, रूद्र शिवांगी को बताते हैं कि अगर नागमणि बाहर आ गई तो, गलत हाथों में चली जाएगी और शिवांगी के माता-पिता की तपस्या और उनका बलिदान बेकार चला जाऐगा ।

 

शिवांगी यामीनि की चाल समझ जाती हैं। लेकिन रॉकी को मौत के मुंह में जाता देख शिवांगी ये बात सहन नहीं कर पातीं और रूद्र से कहती हैं की वो रॉकी की जान बचाने के लिए नागमणि लेकर आऐंगी।

यामीनि शिवांगी और रूद्र की बातें सुनकर खुश हो जाती हैं । यामीनि कहती हैं की अब उनकी मंजिल ज्यादा दूर नही है। इधर शिवांगी निकल पड़ी हैं नागमणि की तलाश में । उधर यामीनि ये प्लान बना रही हैं की नागमणि हांथ में आते ही वो रॉकी और शिवांगी को जान से मार देगीं ।

रूद्र शिवांगी को रोकने की कोशिश करते हैं।  शिवांगी को रॉकी और नागमणि दोनों की जान बचानी है । कैसे करेंगी शिवांगी नागमणि और रॉकी दोनों की रक्षा एक साथ ?

Related Articles

Back to top button