Hindi

पानी फाउंडेशन के लिए लोगों को “श्रमदान”के लिए प्रोत्साहित कर रहे आमिर खान

 

पानी फाउंडेशन की शुरुवात 2016 में हुई थी और तब से, आमिर जहाँ भी जाते है वहाँ के लोगों ने न केवल पहल की सराहना की है बल्कि फाउंडेशन के काम में अपना सहयोग देने की इच्छा भी व्यक्त की है। इसलिए, अब आमिर खान ने एक घोषणा कर दी है कि भारत के किसी भी हिस्से से लोग जो तैयार हैं, वे एक विशेष विंडो में नींव के लिए काम करने में स्वयंसेवक और पहले से तय योगदान दे सकते हैं।

अब जब हर कोई इसमे अपना योगदान दे सकता है, ऐसे में आमिर अधिक से अधिक लोगों को इस पहल के लिए प्रोत्साहित कर रहे है ताकि महाराष्ट्र को पानी की समस्या से मुक्त राष्ट्र बनाया जा सके।

आमिर हमारे देश में सबसे प्रभावशाली आवाजों में से एक है और इसलिए उनका संदेश निश्चित रूप से ग्रामीणों और आंदोलन के लिए काफी मददगार साबित होगा। इस पहल की शुरुआत से अब तक, पानी के संरक्षण को ले कर, महाराष्ट्र के गांवों में अभूतपूर्व सकारात्मक बदलाव सामने आए हैं।

पानी फाउंडेशन को सफ़ल बनाने के पीछे रीना दत्ता, किरण राव, सत्यजीत भटकल, स्वाती चक्रवर्ती और स्वयं आमिर खान का हाथ है। वॉटर कप का यह प्रयास 2016 में 3 तालुकों के साथ शुरू हुआ था और इस साल लगभग एक चौथाई महाराष्ट्र इसमें भाग ले रहा है।

आमिर खान ने सभी से अपील करते हुए कहा, - “आपने आख़िरीबार कब धरती की सोंधी खुशबू के महक ली थी? आख़िरीबार कब आप देश से बाहर थे और बालों को छूती हुई ताज़ा हवा को महसूस किया था? पिछली बार आपने कब गाँव मे रहने वाले शख्स को अपना दोस्त बनाया था? पानी फाउंडेशन की तरफ से, मैं आपको महाराष्ट्र के पानी को प्रचुर मात्रा में बनाने के प्रयास में एक स्वयंसेवक बनने के लिए आमंत्रित करता हूं। आओ, जलमित्रा बनो, गांवों में काम करो, श्रमदान करो, गांव की मदद करो, और मैं आपको आश्वासन देता हूं कि दिन के अंत तक आपको यह आभास होगा कि आपने गाँव की मदद नहीं की, बल्कि गाँव ने आपकी मदद की है।”

Related Articles

Back to top button